Related Posts with Thumbnails

की-पास - जो दे पासवर्ड याद रखने से छुटकारा

इन्टरनेट वपराशकर्ता अलग अलग कई साइट पे Sign Up करते है। ज्यादातर लोग सभी साइट पे एक ही पासवर्ड रखते है और वो भी याद रखने में आसान हो ऐसा संक्षिप्त पासवर्ड रखते है। लोग ऐसा इसलिये करते है कि लम्बा और कठिन पासवर्ड याद रखने में और Log in के समय टाइप करने में परेशान न होना पडे। पर छोटा और आसान पासवर्ड परेशानी मे डाल सकता है। ऐसा
पासवर्ड वाला खाता हैक जल्दी हो जाता है। जन्म दिनांक को या आपके जीवन से जुडे कोइ भी नाम या दिनांक को पासवर्ड मत बनाये। हर साइट पे अलग अलग पासवर्ड रखे। पासवर्ड कम से कम २० शब्दो का रखे। पासवर्ड ऐसा रखे की कोइ आसानी से उसकी कल्पना भी न कर सके। पासवर्ड में अंक और वर्ण दोनो रखे। A se Z में छोटे और बडे वर्ण का इस्तेमाल करे उदा. F14tPb7Lx0gFO86iK5uZ ( यदि साइट सपोर्ट करती हो यो <>?*%$#@!~66&+= जैसे संकेत का भी इस्तेमाल करे)
अब आप सोचते होगे की ऐसा पासवर्ड याद कैसे रखे? तो आप ये काम KeePass सोफ़्टवेयर पर छोड दिजीये। आप अपने कंप्यूटर मे KeePass सोफ़्टवेयर को डाउनलोड करले। KeePass सोफ़्टवेयर में आप साइट का नाम, युजरनेम और पासवर्ड लिख सकते है। KeePass सोफ़्टवेयर को आप याद रहे ऐसा पासवर्ड दे सकते है। आपको सिर्फ़ KeePass सोफ़्टवेयर का ही पासवर्ड याद रखना पडेगा। Log in करते समय आप KeePass सोफ़्टवेयर से जरुरी युजरनेम और पासवर्ड Copy करके Paste कर सकते है। इस सोफ़्टवेयर की विशेषता यह है की आप युजरनेम और पासवर्ड Copy करने के तुरंत Paste नही करते तो कुछ पल के बाद आप Paste करेगे तब भी Paste नही होगा। इस सोफ़्टवेयर लाल-हरे रंगो से यह भी बताता है की आपका पासवर्ड कीतना स्ट्रोग है। अपने सभी युजरनेम और पासवर्ड अपनी निजी डायरी मे लिखना मत भूले, क्योकि अगर आपका कंप्यूटर वाइरस से खराब हो गया और फ़ोर्मेट करना पडा तो आपके सभी युजरनेम और पासवर्ड हमेशा के लिये खो जायेगे।

KeePass सोफ़्टवेयर डाउनलोड करने के लिये यर्हां क्लिक करे।

Comments :

5 comments to “की-पास - जो दे पासवर्ड याद रखने से छुटकारा”
के.आर.रमण said...
on 

उपयोगी जानकारी।

विनय प्रजापति said...
on 

यूँ ज्ञान बाँटते रहिए

---
अभिनन्दन:
आर्यभटीय और गणित (भाग-2)

अविनाश वाचस्पति said...
on 

और अगर कीपास साफ्टवेयर का पासवर्ड फेल हो गया फिर तो लुटिया डूब जाएगी।

महेन्द्र पटेल said...
on 

अविनाशजी, इसलिए तो मैंने पोस्ट में ये लिखा है की "युजरनेम और पासवर्ड अपनी निजी डायरी मे लिखना मत भूले, क्योकि अगर आपका कंप्यूटर वाइरस से खराब हो गया और फ़ोर्मेट करना पडा तो आपके सभी युजरनेम और पासवर्ड हमेशा के लिये खो जायेगे।"

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
on 

अगर कहीं इस साफ्टवेयर बनाने वाली कम्पनी नें ही इस साफ्टवेयर में कोई ऎसा जुगाड रखा हो, जिससे कि इसमें दर्ज हमारे पासवर्ड की जानकारी उसके पास पहुँचती हो और वो कम्पनी ही उन पासवर्ड का दुरूपयोग करने लगे तो..?

Post a Comment

 

View My Stats